Blog

When to advice, what to advice

Personality Development Services in Jaipur, Personality Development Classes in Jaipur, Personality Development Institute in Jaipur

आज की बात –  किसी को कुछ देना हो तो साथ देना , सलाह मत देना जब तक कोई आपसे ना मांगे |

आज का विषय बहुत महत्पूर्ण है | किसी को कुछ हुआ नहीं / किसी के साथ कुछ हुआ नहीं सलाह देना प्रारम्भ | हमारे देश में ना जाने क्यों लोग LAW / MBBS करते हैं यंहा हर कोई तो डॉक्टर और वकील है | व्यक्ति जितना अपनी बीमारी या समस्या से परेशान नहीं होता उससे ज्यादा वह सलाह देने वालों से परेशान हो जाता है | आप ऐसे बहुत सारे व्यक्तियों को जानते होंगे जो किसी भी विषय पर सलाह देने में महारथी होते हैं | क्या ऐसे लोगों को Respect के साथ देखा जाता है ? नहीं बिलकुल नहीं , जंहा ऐसा लोग बैठे हों उनके साथ बैठने से भी लोग बचना चाहते हैं | जबरदस्ती सलाह देना एक बहुत बडा Personality Defect है | कई लोग तो आपने ऐसे भी देखे होंगे जबरदस्ती सलाह देंगे उनकी बात ना मानों तो नाराज भी हो जाते हैं | फिर व्यक्ति मन ही मन सोचता भाई तुझसे सलाह मांगी किसने थी ....| तो अगर आप Personality को Groom करना चाहते हैं तो बिना मांगे सलाह देना बंद कर दें हाँ अगर परिस्थिति और रिश्ते के अनुसार बहुत सोच – समझ कर निर्णय ले सकते हैं | अगर कोई परेशानी में है और आप किसी भी तरह से उसकी मदद कर सकते हैं तो जरुर करें | This is the state of self-satisfaction और सामने वाले को भी अच्छा लगेगा | समय पर सलाह माँगने पर ही आपकी दी गयी Advice की वैल्यू होती है | हो सकता है बिना मांगे भी आप सही और मदद के उद्देश्य से ही सलाह दे रहे हों लेकिन व्यक्ति उसकी value नहीं करता |

 

Post a Comment

NEWSLETTER

SUBSCRIBE IN OUR NEWSLETTER

X