Motivational Stories

ओपरा विनफ्रे की जीवनी

Personality Development Services in Jaipur, Personality Development Classes in Jaipur, Personality Development Institute in Jaipur

Oprah Winfrey का जन्म व नामकरण

“Queen of all Media” के नाम से मशहूर Oprah Winfrey एक अमरीकी Talk Show Host, Actress, Producer और समाजसेवी हैं. वे मुख्यतः अपने Top-rated, Award Winning ‘The Oprah Winfrey Show’ के लिए जानी जाती हैं. जीवन के प्रारंभिक दिनों में शारीरिक शोषण की शिकार रही ओपरा विनफ्रे आज अमरीका की सबसे अमीर अफ़्रीकी-अमरीकन महिला हैं और उन्हें अमरीका के सबसे बड़े नागरिक सम्मान “‘The Presidential Medal of Freedom” से सम्मानित किया गया है

Oprah Winfrey ‘ओपरा विनफ्रे’ का जन्म २९ जनवरी १९५४ को अमरीका के मिसिसिपी प्रान्त के कोस्सिको शहर में हुआ था. उनकी माता वर्निता ली घरों में नौकरानी का काम किया करती थी. कम उम्र में ही वह गर्भवती हो गई और ओपरा विन्फ्रे को जन्म दिया. उस समय वे अविवाहित थी.

ओपरा विन्फ्रे के जन्म का नाम ‘ओरपा’ था, जो ‘Book Of Rooth’ से लिया गया था. किन्तु लोगों द्वारा नाम का उच्चारण सही न कर पाने के कारण वे ‘ओरपा’ के स्थान पर ‘ओपरा’ पुकारी जाने लगी. बाद में उन्होंने इसी नाम को अपना लिया.

Oprah Winfrey का प्रारंभिक जीवन

दयनीय आर्थिक स्थिति के कारण ओपरा की माँ उनका उचित रीति से पालन-पोषण करने में असमर्थ थी. इसलिए वह उन्हें उनकी नानी ‘हाटी मा ली’ के पास छोड़कर काम की तलाश में अन्यत्र चली गई. अपने जीवन के प्रारंभिक ६ वर्ष ओपरा ने अपनी नानी के सानिध्य में व्यतीत किये.

ओपरा की नानी एक धार्मिक महिला थी. वह उन्हें अपने साथ गिरजाघर ले जाया करती थी और बाइबिल के वचन पढ़कर सुनाया करती थी. इस तरह ईश्वरीय वचन सुनते हुए ओपरा बड़ी हुई.

घर पर ही उनकी नानी ने उन्हें पढ़ना-लिखना सिखाना प्रारंभ कर दिया. ३ वर्ष की उम्र तक ओपरा पढ़ना सीख चुकी थी. उस उम्र में भी उनके बोलने का तरीका इतना प्रभावकारी व कलात्मक हुआ करता था कि सब उन्हें ‘The Preacher’ के नाम से बुलाने लगे थे. नानी की ममता, सानिध्य और पथ प्रदर्शन तथा गिरजाघर ने धार्मिक वातावरण में उनका व्यक्तित्व फलफूल रहा था. किंतु साथ में गरीबी की मार भी जारी थी. इसलिए जब वह ६ वर्ष की हुई, तब उनकी नानी ने उन्हें उनकी माँ के पास मिलवॉकी भेज दिया.

Oprah Winfrey का शारीरिक शोषण

माँ के साथ ओपरा का जीवन गरीबी और यातना से परिपूर्ण रहा. दूसरों के घरों में नौकरानी का काम करने के कारण उनकी माँ अधिकांश समय घर से बाहर रहा करती थी. इस कारण ओपरा कभी भी अपनी माँ का सानिध्य महसूस नहीं कर पाई. यह स्थिति कई वर्षों तक रही. इस दौरान ओपरा का कई रिश्तेदारों और उनकी माँ के विश्वासपात्र मित्रों के द्वारा शारीरिक शोषण किया गया. यह सिलसिला कई वर्षों तक चलता रहा. वह इतनी सहमी और भयभीत रहा करती थी कि इस बारे में अपनी माँ को कुछ बता नहीं पाती थी. जब उन्होंने परिवार में इस बारे में बताना चाहा. तो उन पर ही झूठा इल्ज़ाम लगाने का आरोप मढ़ दिया गया.

माँ से उनके संबंध ठीक नहीं थे, भावनात्मक और शारीरिक तौर पर वह बुरी तरह से टूट चुकी थी. वह किसी भी तरीके से इस नारकीय जीवन से निजात पाना चाहती थी. आखिरकार १३ वर्ष की उम्र में अपनी माँ के पर्स से पैसे चुराकर वह घर से भाग निकली. उस समय वह गर्भवती थी. बाद में उन्होंने एक कमज़ोर बच्चे को जन्म दिया, जो जन्म के उपरांत ही चल बसा.

Oprah Winfrey के माँ से बिगड़ते संबंध

कुछ समय बाद उनकी माँ उन्हें किसी तरह खोज कर वापस लाई और उनका दाखिला हाईस्कूल में करवा दिया. उनकी माँ चाहती थी कि ओपरा किसी तरह पढ़-लिख कर अपना भविष्य बनाने लायक बन जाये. स्कूल में ओपरा ने स्वयं को अन्य अमीर घरों के बच्चों के मध्य पाया और उन्हें अपनी गरीबी का अहसास होने लगा. वह स्वयं को स्कूल के अन्य बच्चों के समक्ष कमतर महसूस करने लगी. इस कारण वे अपने अमीर सहपाठियों की बराबरी करने के लिए घर से पैसे चुराने लगी. इस संबंध में पूछे जाने पर वह अपनी माँ से झूठ बोलती और उनसे बहस किया करती थी. आखिरकार ओपरा की हरकतों से तंग आकर उनकी माँ ने उन्हें उनके सौतेले पिता वर्मन के पार नैशविले, टिनेसी भेज दिया और कभी अपने पास वापस नहीं बुलाया.

Oprah Winfrey के जीवन में सकारात्मक बदलाव

वर्मन एक सहृद्य और भले व्यक्ति थे. उनके घर ओपरा को न सिर्फ सुरक्षा और पनाह प्राप्त हुई, बल्कि उनमें अनुशासन भी आया. ओपरा की शिक्षा वर्मन की पहली प्राथमिकता थी. एक अच्छे विद्यार्थी के रूप में आगे बढ़ने के लिए वे उन्हें सर्वदा प्रोत्साहित किया करते थे.

ओपरा ने भी अपने जीवन में आये इस सकारात्मक बदलाव को स्वीकार कर लिया और अपने पुराने जीवन को भूलकर नए सिरे से जीवन में आगे बढ़ने लगी. वह समझ चुकी थी कि उनमें वह काबिलियत है कि सही अवसर मिले, तो वे आगे बढ़कर दिखा सकती हैं. उन्होंने ‘नैशविले ईस्ट हाई स्कूल’ में दाखिला लिया और स्वयं को पढ़ाई और स्कूल की गतिविधियों में झोंक दिया. वह खुद को साबित करके दिखाना चाहती थी. धीरे-धीरे स्कूल में वह एक होनहार विद्यार्थी के रूप में जाने जानी लगी. पढ़ाई के साथ-साथ Public Speaking और Drama में उनकी विशेष रूचि थी. वह स्कूल में Speech और Public Speaking Team का हिस्सा थी. शीघ्र ही वह अपने समस्त शिक्षिकों के मध्य लोकप्रिय हो गई.

Oprah Winfrey का रेडियो समाचार वाचक बनना

हाई स्कूल के आखिरी दिनों में एक दिन वह अपनी ड्रामा क्लास में रिहर्सल कर रही थी, तब एक लोकल रेडियो स्टेशन WVOL ने उन्हें देखा और उनके सामने अपने रेडियो के लिए समाचार पढ़ने का प्रस्ताव रख दिया. वह प्रस्ताव ओपरा ने सहर्ष स्वीकार कर लिया और रेडियो के समाचार वाचक के रूप में उनका करियर प्रारंभ हो गया. किंतु अब भी पढ़ाई उनकी पहली प्राथमिकता थी. जब उन्हें ‘टिनेसी स्टेट यूनिवेर्सिटी’ की scholarship के लिए आयोजित की जा रही भाषण प्रतियोगिता के बारे में जानकारी प्राप्त हुई, तो अवसर का लाभ उठाते हुए उन्होंने प्रतियोगिता में भाग लिया और विजेता बनकर ‘टिनेसी स्टेट यूनिवेर्सिटी’ के लिए स्कालरशिप प्राप्त कर ली, जहाँ उन्होंने speech communication और performing art की पढ़ाई की. यूनिवर्सिटी के प्रथम दो वर्षों में भी रेडियो में समाचार वाचन का कार्य उन्होंने जारी रखा.

यूनिवर्सिटी में रहते हुए ही १७ वर्ष की उम्र में दो सौंदर्य प्रतियोगिता जीतकर वे ‘मिस ब्लैक नैशविले’ और ‘मिस टिनेसी’ बन गई. वह सौंदर्य और बुद्धि का अद्भुत समन्वय थी, जिसे देखकर सी.बी.एस. टेलीविज़न ने उन्हें समाचार वाचन का प्रस्ताव भेजा, जिसे उन्होंने अस्वीकार कर दिया.

WJZ-TV News के द्वारा प्रस्ताव

ओपरा नैशविले, टिनेसी के बाहर जॉब करना चाहती थी. उन्हें यह अवसर बहुत जल्द मिल गया. बाल्टीमोर, मेरीलैंड के एक टी.वी. चैनल WJZ-TV News के द्वारा उन्हें समाचार पढ़ने के लिए बुलाया गया. उस समय उनके ग्रेजुएशन को कुछ महीने ही शेष रह गए थे. लेकिन प्रस्ताव इतना आकर्षक था कि उन्होंने ग्रेजुएशन पूर्ण किये बिना ही यह प्रस्ताव स्वीकार का लिया. यह प्रस्ताव पाने वाली वह पहली अफ्रीकी-अमरीकी महिला थी. उसके बाद वे बाल्टीमोर, मेरीलैंड चली गई.

न्यूज़ रिपोर्टिंग के जॉब से निकाला जाना

उस समय टी.वी. पर राज करने वाले गोरे-चिट्टे अमरीकी हुआ करते थे. उनके समक्ष एक अफ्रीकी-अमरीकी महिला के लिए अपनी स्थिति बना पाना कतई आसान नहीं था. उनके समाचार पढ़ने का तरीका अन्य समाचार वाचकों से भिन्न था. वह संवेदनशील थी और हर समाचार से स्वयं को भावनात्मक रूप से जुड़ा हुआ महसूस करती थी, जिसकी झलक उनके प्रस्तुतीकरण के अंदाज़ में भी दिख जाती था. उनका समाचारों से भावनात्मक रूप से जुड़ जाना उनके बॉस को नागवार गुज़र रहा था.इसलिए उन्होंने ओपरा को यह कहकर उस जॉब से निकाल दिया कि वे न्यूज़ रिपोर्टिंग के लायक नहीं है.

Talk Show के Host के रूप में Career

समाचार वाचन के जॉब से बाहर निकाल दिए जाने के बाद ग्रेजुएशन छोड़कर आई ओपरा को अपनी उम्मीदें टूटती हुई नज़र आने लगी. किंतु किस्मत से उन्हें खुद को साबित करने का एक अवसर पुनः प्राप्त हुआ, जब उनके बॉस ने उन्हें एक Talk Show ‘People Are Talking’ का Co-Host बना दिया. यह Talk Show १९७८ में पहली बार प्रदर्शित किया गया. यह शो करते समय ओपरा को यह अहसास हो गया कि उन्हें जीवन की रह मिल चुकी है. उन्हें समझ आ चुका था कि वह किस काम के लिए बनी है. ७ वर्षों तक वह इस शो की होस्ट रही. उसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा.

‘The Oprah Winfrey Show’ की शुरुआत

१९८३ में ओपरा शिकागो चली गई और WLS-TV के एक प्रातःकालीन talk-show ‘AM-Shicago’ का प्रस्तुतीकरण करना प्रारंभ कर दिया. उस समय ‘Donahue’ नामक talk-show लोकप्रियता के चार्ट पर नंबर वन था. जिसके समक्ष ओपरा के शो को आखिरी स्थान प्राप्त हुआ. अब ओपरा के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती count-down chart में अपने talk-show की स्थिति सुधारने की थी. उन्होंने अपना प्रयास जारी रखा और धीरे-धीरे उनके talk-show की लोकप्रियता बढ़ने लगी. और कुछ ही महीनों में ये low-rated talk-show से सबसे लोकप्रिय talk-show बन गया. इसकी लोकप्रियता इतनी बढ़ गई कि इसका समय आधे घंटे से बढ़ा कर एक घंटा करना पड़ा. बाद में इसका नाम बदलकर ‘The Oprah Winfrey Show’ कर दिया गया.

प्रारंभ में यह कार्यक्रम महिलाओं के मुद्दों पर केंद्रित था, किंतु बाद में इसमें अन्य विषय जैसे आध्यात्मिकता, मेडिटेशन, राजनीति, चैरिटी, सामाजिक और चिकित्सा क्षेत्र से संबंधित विषय भी शामिल किया जाने लगे, साथ ही लोकप्रियता में इज़ाफ़ा करने के उद्देश्य से इसमें book release, film release, celebrity interview को भी शामिल किया गया तथा दर्शकों को लुभाने के लिए कार और ऑस्ट्रेलिया ट्रिप जैसे पुरुस्कार भी दिये जाने लगे. कई विवादित मुद्दों पर भी इस कार्यक्रम में चर्चा हुई, जिससे इस talk show की लोकप्रियता चरम पर पहुँच गई. इस शो की सफलता से ओपरा अमरीका में ही नहीं विश्व में एक जाना माना नाम बन गई. उनका talk show दो दशकों से भी अधिक समय तक चला, जिसके २४ सीजन में ५००० broadcast हुये.

‘The Oprah Winfrey Show’ को मिले पुरुस्कार और अवार्ड

१९८७ में उनके टॉक शो को तीन “Day-time Amy Award” प्राप्त हुए – best host, best direction, best talk show. आगामी वर्ष में भी उनके talk show शो को सर्श्रेष्ठ टॉक शो का day-time amy award प्राप्त हुआ. साथ ही उन्हें अंतर्राष्टीय रेडियो और टेलीविज़न सोसाइटी का ‘broadcaster of the year award’ प्राप्त हुआ. इस पुरुस्कार को पाने वाली वे सबसे युवा व्यक्ति थी.

Oprah Winfrey Net Worth

जून २०१६ में Forbs के द्वारा ओपरा विनफ्रे की कुल संपत्ति ३.२ बिलियन आंकी गई थी. वह न केवल सबसे अधिक पैसे कमाए वाली टीवी कलाकार है, बल्कि अमरीका की सबसे अमीर selfmade महिला है और २०वीं सदी की सबसे अमीर अफ्रो-अमरीकन महिला है.

फिल्मों में पदार्पण

टीवी के बाद ओपरा ने फिल्मों का रूख कर लिया और स्टीवन स्पीलबर्ग के साथ ऐलिस वॉकर के नावेल पर बनी फिल्म ‘The Color Purple’ में अभिनय किया. इस फिल्म में बेहतरीन अभिनय के लिए उन्हें सर्व श्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री के Oscar Award के लिए नामांकित किया गया.

स्वयं की Harpo Production Inc. का प्रारंभ

१९८६ में उन्होंने अपनी प्रोडक्शन कम्पनी Harpo Production Inc. प्रारंभ की. १९८८ में उनकी कंपनी ने ‘The Oprah Show’ का पूर्ण स्वामित्व और प्रोडक्शन अधिकार प्राप्त कर लिया और इस तरह ओपरा अपना Talk Show Produce करने वाली इतिहास की पहली महिला बन गयी.

उनकी प्रोडक्शन कंपनी ने कई फिल्मों का भी निर्माण किया. उन फिल्मों में ओपरा ने अभिनय भी किया. उनकी प्रोडक्शन कंपनी द्वारा बने गई फिल्मों में The Women of Brewster Place, There Are No Children Here, Before Women Had Wings, Beloved प्रमुख हैं.

Books by Oprah Winfrey

ओपरा विनफ्रे लेखन से भी जुड़ी रही और ५ best seller पुस्तकों की co-author रही. उन्होंने दो मैगज़ीन ‘O, The Oprah Magazine’ और ‘O at Home’ launch की.

समाज सेवा के कार्य

लोकोपकारी सामाजिक गतिविधियों में भी ओपरा आगे रही. उन्होंने जोहान्सबर्ग में लड़कियों के लिये ‘Oprah Winfrey Leadership Academy’ स्थापित की. उनके लोकोपकारी कार्यों के कारण २०११ में ‘Academy of motion picture arts & science’ ने उन्हें विशेष Oscar ‘The Jean Hersholt Humanitarian Award’ प्रदान किया.

Oprah Winfrey को प्राप्त सम्मान

उन्हें Time Magazin द्वारा २० वीं शताब्दी की १०० सबसे प्रभावशाली व्यक्तियों में सूचीबद्ध किया गया. २००३ में Forbs पत्रिका ने उन्हें विश्व के अरबपतियों की सूची में सम्मिलित किया. इस सूची में सम्मिलित होने वाली वे पहली एफ्रो-अमेरिकन महिला है. वर्ष २०१३ में अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा से उन्हें देश का सर्वश्रेष्ठ नागरिक सम्मान ‘The Presidential Medal of Freedom’ प्राप्त हुआ.

                                 ओपरा विनफ्रे आज न केवल विश्व की एक प्रभावशाली व्यक्तित्व है, बल्कि एक प्रेरणा स्रोत भी है. जो जीवन में आये बुरे दौर, बदतर हालात, भटकाव और असफलता के बाद भी अपने जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाकर अपनी मेहनत तथा लगन से सफलता के शिखर तक पहुँची. आज वे सबके लिए एक मिसाल है.

Add Story*
*If you have any motivation story and would like to share with us. We will publish it with your name.

Post a Comment

NEWSLETTER

SUBSCRIBE IN OUR NEWSLETTER

X