Motivational Stories

Thomas Edison Electric Bulb

Personality Development Services in Jaipur, Personality Development Classes in Jaipur, Personality Development Institute in Jaipur

इलेक्ट्रिक बल्ब (Electric Bulb) का अविष्कार थॉमस अल्वा एडिसन ने किया था, जिससे सारा जगत रात के अँधेरे में भी प्रकाशमान रहता है। कहते हैं, कि बचपन में थॉमस अल्वा एडिसन (Thomas Alva Edison) को मंद बुद्धि कहा जाता थालेकिन बाद में उन्होंने अपनी मेहनत की बदौलत ऐसा नाम और मुकाम हासिल किया जिसकी चाह हर परिश्रमी व्यक्ति को होती है।

Pragya Institute of Personality Development Presents Motivational, Moral & Inspirational Stories for You – That Can Change Your Life (Pioneer of Comprehensive Personality Development Institute in Jaipur) (Best Personality Development Classes in Jaipur)

बताया जाता है कि एडिसन (Thomas Alva Edison) को अपने काम से इतना लगाव हो गया था कि वे अधिकांशतः अपना समय प्रयोगशाला में ही बिताते थे। और इसका परिणाम ये निकला कि बल्ब के साथ-साथ एडिसन ने और भी सैकड़ों अविष्कार (Invention) इस दुनिया को गिफ्ट किये।

आज हम आपको इस महान वैज्ञानिक (great scientist) के सफलता का राज(secret of success) बताएँगे। कहते हैं हर कामयाब इंसान के पीछे एक औरत का हाथ होता है। ये कहावत एडिसन के ऊपर भी सटीक बैठती है। और वो औरत कोई और नही बल्कि एडिसन की माँ थीं।

मंद बुद्धि से महान वैज्ञानिक : थॉमस अल्वा एडिसन । मंद बुद्धि से महान वैज्ञानिक कैसे बन गए “थॉमस अल्वा एडिसन” । True and Real Life Inspirational Success Story of Great Scientist Thomas Alva Edison in Hindi

तो आईये आज हम जानते हैं Thomas Alva Edison (थॉमस अल्वा एडिसन) के सफलता का राज –

Thomas Alva Edison (थॉमस अल्वा एडिसन) Primary School में पढ़ते थे। एक दिन घर आये और अपनी मां को एक कागज देकर कहा – “यह Teacher ने दिया है”, कागज पढ़ कर मां की आंखों में आंसू आ गए। Edison ने अपनी माँ से पूछा – “इसमें क्या लिखा है माँ?” आंसू पोंछकर मां ने कहा – “इसमें लिखा है कि आपका बेटा बहुत होशियार (Genius) है, हमारा School low level का है, और Teacher भी बहुत Trained नहीं है, इसलिए हम इसे नहीं पढा सकते। इसे अब आप स्वयं शिक्षा दें।” कई वर्षों बाद मां गुजर गई, तब तक Edison famous Scientist (प्रसिद्ध वैज्ञानिक) बन चुके थे और उन्होंने फोनोग्राफ और इलेक्ट्रिक बल्ब Electric Bulb जैसे कई महान अविष्कार कर लिए थे।

एक दिन फुर्सत के क्षणों में वह अपने पुरानी यादगार वस्तुओं को देख रहे थे। तभी उन्होंने आलमारी के एक कोने में एक पुराना खत देखा और उत्सुकतावश उसे खोलकर देखा और पढा। यह वही खत था जो बचपन में एडिसन के शिक्षक (teacher) ने उन्हें दिया था। उसमें लिखा था आपका बच्चा mentally weak (बौद्धिक तौर पर काफी कमजोर) है उसे अब school ना भेजें। Edison कई घंटों तक रोते रहे और फिर अपनी diary में लिखा – “एक महान मां ने mentally weak (बौद्धिक तौर पर काफी कमजोर) बच्चे को सदी का great scientist (महान वैज्ञानिक) बना दिया यही positive parents की real power है।”

Pragya Institute Of Personality Development - Best Personality Development Classes in Jaipur - Friendly Environment, 14+ Years Experienced Faculty, Awarded Trainer, Excellent Course Content, Best Motivational Speaker – Saurabh Jain, Completely Activity Based Workshop. A move Toward Positive Change. For more details click on: - http://www.pragyapersonalitydevelopment.com/home/contact

 

Add Story*
*If you have any motivation story and would like to share with us. We will publish it with your name.

Post a Comment

NEWSLETTER

SUBSCRIBE IN OUR NEWSLETTER

X